सचिन तेंदुलकर : रोचक तथ्य | Sachin Tendulkar Facts in Hindi

173 Views

Right Hand – Left Hand

सचिन गेंदबाजी और बल्लेबाजी right hand से करते है मगर लिखते left hand से हैं. इसके अलावा वह टेनिस भी left hand से ही खेलते हैं.

सबसे पहला विज्ञापन –

सचिन ने सबसे पहले ‘Boost’ कंम्पनी की तरफ से विज्ञापन किया था.

माइकल शुमाकर ने दिया Gift –

F1 race के चैंपियन माइकल शुमाकर ने 2002 में सचिन को फरारी कार तब भेंट की थी जब उन्होंने सर डॉन ब्रैडमैन के 29 टेस्ट शतकों की बराबरी कर ली थी. सचिन ने यह कार 2011 में सूरत के एक व्यापारी को 1.5 करोड़ में बेच दी थी.

खाना बनाने के भी शौक़ीन –

सचिन कभी-कभी अपने घर परपत्नी अंजलि और बच्चों के लिए नाश्ता भी बनाते हैं, यहां ही नही , उन्होंने साल 1998 में पूरी टीम के लिए बैंगन का भर्ता भी बनाया था.

13 magic coins :-

युवावस्था में सचिन शारदा विद्याश्रम में अपने कोच रमाकांत अचरेकर से क्रिकेट के गुर सीखते थे|रमाकांत अचरेकर स्टम्प पर 1 रूपये का सिक्का रखते| जो सचिन को आउट करता वो सिक्का आउट करने वाले  बॉलर को मिलता और अगर सचिन नॉटआउट होकर खेलते रहते तो वो सिक्का सचिन को मिलता | सचिन के पास ऐसे ही १३ सिक्के सचिन के पास है |

हैरिस शिल्ड इंटर स्कूल टूर्नामेंट मैच :-

हैरिस शिल्ड इंटर स्कूल टूर्नामेंट के दौरान ही सचिन ने पहला शतक लगाया | और अनिल काम्बली के साथ 664 रनों  की अविजित PARTNERSHIP की |और सचिन ने अकेले इस मैच में ३२० रन बनाये| इतना बेहतरीन प्रदर्शन देखते हुए opposite टीम का बॉलर रोने लगा और विपक्षी टीम ने मैच आगे खेलने से मना कर दिया | पूरी प्रतियोगिता में सचिन ने 1000 रन से भी ज्यादा बनाये |

भेष बदलकर फिल्म देखने जाना :- 

बात 1995 की है जब सचिन अपने fans और मीडिया वालो से बचकर सचिन रोजा फिल्म देखने के लिए अपने चेहरे पर नकली दाढ़ी मूंछ चश्मा लगाकर गये लेकिन अचानक दाढ़ी मूंछ गिर गयी | और सचिन पकड़े गये |

बड़ापाव है पसंद –

सचिन की सबसे बड़ी कमजोरी बड़ापाव है |

डोनेशन-

सचिन हर साल २०० बच्चो के पालन पोषण के लिए अपनालय नाम का गैर सरकारी संगठन चलाते हैं|

बाबू मोशाय और छोटा बाबु :-

सचिन सौरभ गाँगुली को बाबु मोशाय कहते है और सौरभ गांगुली सचिन तेंदुलकर को छोटा बाबु बुलाते है|

किशोर कुमार के fan:-

सचिन तेंदुलकर किशोर कुमार के बहुत बड़े fan है और बैटिंग करने से पाहे dressing रूम में वे किशोर कुमार के ही गाने सुनते है |

भारी बैट से खेलते हैं –

सचिन के बैट का भार 1420 ग्राम है ,जो कि सामान्य बैट से बहुत भरी है  जबकि धोनी के बैट का भार 1270ग्राम है |

शेन वार्न को दिखते हैं सपने में –

ऑस्ट्रेलिया के लेग स्पिनर शेन वार्न ने एक press confrance में कहा कि-

मुझे रात में बुरे सपने आते हैं की सचिन मेरी बॉलो की बुरी तरह पिटाई कर रहे हैं।क्योंकि सचिन की तकनीक ही ऐसी है की वे गेंदों को पढ़ लेते है और मैदान में जिधर चाहते है उधर खेलते हैं।

बराक ओबामा हैं प्रभावित – 

अमेरिका के बराक ओबामा सचिन से काफी प्रभावित हैं ।और वे सचिन के बारे में कहते हैं कि –

मैं क्रिकेट के बारे में कुछ नही जानते फिर भी सचिन को क्रिकेट खेलते हुए देखता हूँ।इसका reason यह है कि जब sachin बैटिंग करते है तो मेरे देश अमेरिका का production 5% क्यों गिर जाता है।

दोस्तों ने समझा लड़की –

स्कूली जीवन में उनके अच्छे दोस्त अतुल रानाडे ने उनके घुंघराले बालों के कारण उन्हें लड़की समझ लिया था।

नींद में चलने की बीमारी –

गेंदबाजों को दिन में तारे दिखाने वाले सचिन ने एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने इस बात का खुलासा किया को नींद  में चलने की बीमारी है। उनकी इसी आदत के कारण अकसर उनके घरवाले और टीम के साथी खिलाड़ी परेशान रहते हैं।

fast Bolwer बनना चाहते थे-

पहले सचिन एक fast bowler बनना चाहते थे मगर M.R.F फाउंडेशन के डेनिस लिली ने साल 1987 में
उन्हें खारिज कर दिया. लिली ने सचिन को सिर्फ बैटिंग पर ध्यान देने के लिए कहा और सचिन महान बल्लेबाज बने |

ऊँगली कट गयी थी –

एक बार सचिन छत पर खेल रहे थे तभी ऊपर से एक हैलीकापटर गुजरा ओर उनकी उंगली कट गई।

पिता की दूसरी पत्नी के पुत्र हैं –

यह बेहद कम लोग ही जानते हैं कि सचिन तेंदुलकर अपने पिता रमेश तेंदुलकर की दूसरी पत्‍नी के पुत्र है। रमेश तेंदुलकर की पहली पत्‍नी से तीन संताने हुई, अजीत, नितिन और सविता तीनों सचिन से बड़े है।

बड़ा पाव खाने का comptition –

स्कूल टाइम में सचिन अपने दोस्तों के साथ वड़ा पाव खाने का कॉम्पीटीशन रखते थे और इसमें सदैव सचिन हार जाते और विनोद कांबली जीत जाते थे |

About Vinay Singh 555 Articles
मेरा नाम Vinay Singh है, और मुझे लोंगों की Help करना अच्छा लगता है। Hindi Me Jane आपके Technical Problem के Solutions के लिए बनाया गया है जहां से आप कुछ नया सीख सकते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*