लिओनेल मेस्सी : जीवनी , रोचक तथ्य | Lionel Messi Biography & Facts in Hindi

152 Views

football game के पर्याय बने लियोनेल मैसी, क्रिस्टियानो रोनाल्डो और नेमार को ही माना जाता है,चलिए जानते हैं – Lionel Messi की Success Story Hindi में |

                                    लिओनेल मेस्सी : जीवन परिचय

Messi का जन्म 24 जून 1987 को रोसोरियो , अर्जेंटीना में जार्ज मेस्सी के घर हुआ | मेस्सी के पिता एक factory मजदूर थे |मेस्सी चार भाई-बहनों में तीसरे नंबर पर हैं |

5 साल की उम्र में अपने पिता द्वारा दी जा training से स्थानीय क्लब ग्रैंडोली में खेलना शुरू किया |मेस्सी जब 9 साल के हुए तो वह football में इतना निपुण हो गये कि अगर football उनके पास आ जाती तो 15 मिनट तक मेसी का कब्ज़ा football पर ही रहता | देखने वाले लोग ख़ुशी के कारण सिक्के उछालने लगते |

11 साल की उन्हें एक भयानक बिमारी से जूझना पड़ा , वे ग्रोथ हार्मोन की ऐसी कमी से जूझ रहे थे जिसका जल्द इलाज नहीं किया गया तो उनके शरीर का विकास ही रुक जाएगा इसका इलाज भी बहुत ही कठिन था , मेसी को इससे बचने के लिए अपनी जांघो पर हार्मोन्स के injection लगाने पड़ते थे , जो कि बहुत कष्टकारक था | यह उन्हें 3 साल तक लगातार करना पड़ा , लेकिन मेस्सी ने बताया कि – इतना सहने के बावजूद भी मेस्सी अपने साथियों से छोटे ही रहे |

जैसा कि मेसी के पिता एक साधारण से मजदूर थे , इसलिए मेसी के इलाज का खर्च वह वहन नहीं कर सकते थे , मेसी के इलाज का खर्चा हर महीने का 1.5 हजार dollor था , जोकि सामान्य वर्गीय परिवार के बहुत था , तभी अचानक मेस्सी के father के दोस्त ने बताया कि – स्पेन का बार्सिलोना क्लब युवा फुटबॉलरों के इलाज का खर्च भी देता है | 14 वर्ष की उम्र में मेस्सी अपने पिता और परिवार सहित अपने ईलाज के लिए स्पेन चले गये | मेसी के इलाज का खर्च बार्सिलोना क्लब ने दिया | मेस्सी को अब तय करना था कि – मेस्सी स्पेन में रहेंगे या वापस अर्जेंटीना जायेंगे | मेस्सी ने कहा – क्लब ने मेरे लिए इतना किया है , मै स्पेन में ही रह कर खेलूँगा और Proffesional फुटबॉलर बनूँगा |

बार्सिलोना की टीम – B में मेसी को चयनित किया गया | लेकिन कद छोटा होने के कारण हैडर करने के मामले में वे पीछे रह जाते , लेकिन यही लम्बाई मेस्सी को football ओवरटेक करने में अहजता लाइ |

Some Intrusting Facts About Messi in Hindi  –

messi-quotes-hindi

मेस्सी को Personal Life –

मेस्सी अपनी गर्लफ्रेंड एंटोनेला रोकुजो के साथ बिना शादी किये रहते हैं।

मेसी के गर्लफ्रेंड एंटोनेला रोकुजो से दो बेटे हैं – जिनका नाम – थियागो और मेटियो है

मेस्सी की संन्यास घोषणा से अर्जेंटीना दुखी और राष्ट्रपति ने की सिफारिस  –

कोपा अमेरिका कप में दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ फुटबॉलर लियोनेल मेसी ने संन्यास का फैसला फाइनल मैच में चिली से हार के बाद लिया है

मेस्सी के अचानक संन्यास की घोषणा करने पर अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरिसियो मैक्री ने सन्यास न लेने के लिए सिफारिस की |

मेसी और सचिन में समानता –

मै सचिन तेंदुलकर और मेसी का बहुत बड़ा fan हूँ , और कई बार मुझे यह लगा कि ये दोनों बिलकुल एक जैसा ही attitude रखते हैं | चाहे सचिन का 100 हो या मेस्सी का goal मारने के बाद रिएक्शन बिलकुल एक जैसा होता है ,दोनों ही सबसे पहले आसमान की ओर देखकर ईश्वर का शुक्रिया अदा करते हैं , और दोनों ही बड़ी सज्जन नजर आते हैं , दोनों के अंदर ही कोई आक्रामकता नजर नहीं आती |

मेस्सी खाने पीने के शौक़ीन –

मेस्सी खाने पीने के बहुत ही ज्यादा शौक़ीन है , सी-फूड मेस्सी का फेवरेट है |

ब्रांड अम्बेसडर –

लियोनेल मैसी यूनिसेफ के गुडविल एम्बेसडर है, मेस्सी का चैरिटी foundation  ‘लियो मैसी फाउंडेशन’ भी कई चैरिटी की मदद करता है।

दो देश की नागरिकता –

मैसी को दो देशों की अर्जेंटीना और स्पेन की नागरिकता प्राप्त है ,इसलिए मेस्सी  दो देशों के पासपोर्टधारी है। अर्जेंटीना में जन्मे मेस्सी   को स्पेन ने 2005 में नागरिकता मिली ।

पहला अनुबंध नैपकिन पर –

उनका फुटबॉल का पहला अनुबंध पेपर नेपकीन पर लिखा गया था।FC  Barcilona  के Chief  चार्ल्स मेस्सी  से इतने प्रभावित हुए थे कि जब उन्हें कागज नहीं मिला तो  उन्होंने पेपर नेपकीन पर ही मैसी को अनु‍बंधित कर लिया था।

जर्सी नंबर 10-

बार्सिलोना क्लब से 2008 में Ronaldo  की रवानगी के बाद मैसी 10 नंबर की जर्सी पहनने लगे।

स्पेन को किया मना –

2004 में स्पेन ने अपने देश से खेलने का ऑफर मैसी को दिया, जो उन्होंने मना कर दिया।

world Record-

  • मैसी 25 वर्ष की उम्र में स्पेनिश ला लीगा में सबसे कम उम्र में 200 गोल दागने वाले फुटबॉलर बने।
  • वे बार्सिलोना क्लब के इतिहास में सबसे ज्यादा गोल जिनकी संख्या 453 है , दागने वाले खिलाड़ी हैं।
  • उनके नाम ला लीगा इतिहास में सबसे ज्यादा गोल  जिनकी संख्या 312 है , दागने का रिकॉर्ड है।
  • मैसी का नाम एक वर्ष में सबसे ज्यादा गोल दागने 2012 में 91 गोल की वजह से गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्‍स में दर्ज है।

 

About Vinay Singh 555 Articles
मेरा नाम Vinay Singh है, और मुझे लोंगों की Help करना अच्छा लगता है। Hindi Me Jane आपके Technical Problem के Solutions के लिए बनाया गया है जहां से आप कुछ नया सीख सकते हैं।

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*