Category: मोरल स्टोरी

असफलता ही सफलता दिलाती है : Edison , Abraham Linclon,Sandeep Maheswari Ki Saflta Ka Raj

असफलता एक चुनौती है, स्वीकार करो क्या कमी रह गई, देखो और सुधार करो जब तक न सफल हो, नींद चैन को त्यागो तुम संघर्ष का मैदान छोड़ मत भागो तुम कुछ किये बिना ही जय जय कार नहीं होती कोशिश करने वालों की हार नहीं होती सफलता की सारी कहानियो के साथ महान असफलताओ

आत्महत्या : प्रेरक कहानी | Suicide : A Story For Upset Students [ Motivational ]

एक 15 साल का नवजवान था, जो कि परीक्षा मे fail हो गया था,और घरवालो के डांटे जाने से बहुत ही ज्यादा परेशान था । fail होने की वजह से बाहर पड़ोसियों के ताने, दोस्तो द्वारा उसका मज़ाक बनाये जाने को सोचकर उसकी परेशानियां इतनी बढ़ गयी कि उसे लगा कि शायद उसे इस दिन

प्रेरणादायी कहानी – मेढ़को की दौड़ प्रतियोगिता | Frogs Race Competition

    मेढ़को की दौड़ प्रतियोगिता | Frogs Race Competition एक बार की बात है ,एक नगर मे एक सरोवर था जिसके बीचोबीच उस नगर के राजा ने एक ऊंचा सा खम्भा लगवाया था । उस सरोवर मे ही ढ़ेर सारे मेढक रहते थे ,एक दिन मेढ़को के दिमाग मे आया क्यो न एक race करायी

सफलता की कुंजी| आत्मविश्वास | Motivational Story

life में बोहुत बार ऐसा होता है जो कुछ हम करतें हैं अगर सफ़ल हुयें तो credit खुद पर लेतें हैं किंतु जब हम किसी चीस में असफ़ल होतें हैं तो उसको कारण दूसरों पर दाल देतें हैं| और सोचतें हैं की फलाने इंसान की वजह से ये हुवा या फिर कुछ रिश्तेदार की वजह

इंसानियत – शिक्षाप्रद कहानी

क्या खूब कहा हैं किसी ने “जरुरी नहीं जिसमें सांसे नहीं वोही मुर्दा हैं , जिसमे इंसानियत नहीं वो भी तो मुर्दा ही हैं” friends इस दुनिया में सबसे बड़ा हथियार सा सबसे बड़ी ताकत हैं तो इंसानियत सबसे अहम् चीस हैं तो वोहे इंसानियत, अगर आप कोई बुरा काम कर रहें है और सोचते है

सबसे कीमती और बेकार अंग : अकबर – बीरबल | Akbar Birbal Story In Hindi

एक बार राजा अकबर अपने दरबार मंत्रियो के साथ बैठे थे |अचानक उन्होंने सैनिक से कहा- एक बकरे को दरबार में पेश किया जाय | सैनिक बकरे को दरबार में लेकर आये | राजा अकबर ने मंत्री बीरबल से कहा कि – “मंत्री बीरबल ! इस बकरे का सबसे अच्छा अंग काट कर लाओ |”

माँ-बेटी के बच्चों में क्या रिश्ता हुआ? चौबीसवीं कहानी!!|विक्रम – बैताल Hindi Story

माँ-बेटी के बच्चों में क्या रिश्ता हुआ? किसी नगर में मांडलिक नाम का राजा राज करता था। उसकी पत्नी का नाम चडवती था। वह मालव देश के राजा की लड़की थी। उसके लावण्यवती नाम की एक कन्या थी। जब वह विवाह के योग्य हुई तो राजा के भाई-बन्धुओं ने उसका राज्य छीन लिया और उसे