देशभक्ति : स्लोगन | Deshbhakti Slogan , Quoatation In Hindi

हो गयी है पीर –

        हो गयी है पीर,पर्वत सी पिघलनी चाहिए,

       इस हिमालय से कोई गंगा निकलनी चहिये.

       आज ये दीवार,परदों की तरह हिलने लगी,

       शर्त लेकिन थी कि ये बुनियाद हिलनी चाहिये.

        हर सड़क पर,हर गली मे,हर नगर,हर गांव मे

       हाथ लहराते हुए,हर लाश चलनी  चहिये

       सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीँ
       मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिये
       मेरे सीने मे नहीँ,तो तेरे सीने मे सही,
       हो कहीँ भी आग लेकिन आग जलानी चाहिये.

 

  मै मर जाऊँ तो….

 मैं मर जाऊँ तो सिर्फ मेरी इतनी पहचान लिख देना,
 मेरे खून से मेरे माथे पर “जन्मस्थान ” लिख देना,
 कोई पूछे तुमसे स्वर्ग के बारे में तो एक कागज के  टुकड़े में “हिदुस्तान” लिख देना,
 ना दौलत पर गर्व करते है,
 ना शोहरत पर गर्व करते है,
 किया भगवान ने हिदुस्तान मै पैदा,
 इसलिये अपनी किस्मत पर गर्व करते है……
 जय हिंद.॥  
 

भूगोल बदल देंगे….     

 
 अबकी चिंता मत कर, चेहरे का खोल बदल देंगे,
इतिहास कि क्या हस्ती है, पूरा भूगोल बदल देंगे,  धारा हर मोड़ बदलकर, लाहौर से गुजरेगी गंगा,
इस्लामाबाद कि छाती पर, लहराएगा भारत का तिरंगा, रावलपिंडी और कराची तक, सब कुछ गर्त हो जाएगा,
सिंधु नदी के आर पार, पूरा भारत हो जाएगा,
फिर सदियों सदियों तक, जिन्ना जैसा शैतान नहीं होगा,
कश्मीर तो होगा लेकिन, पाकिस्तान नहीं होगा।
शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पर मरने वालों का यही बाकी निशां होगा।
कभी वह दिन भी आएगा जब अपना राज देखेंगे,
जब अपनी ही जमीं होगी जब अपना ही आसमां होगा।।

चीर कर बहा दो लहू –

चीर कर बहा दो लहू, दुश्मन के सीनेका…
यही तो मजा है, भारतीय  होकर जीने का..!!!
जितनी पाकिस्तान की जनसंख्या हैँ।
उतने भारत मेँ कैदी हैँ !
कैदियो को बोल दो सजा माफ ,
साला सुबह होते होते पाकिस्तान साफ !!
सीमा पर बैठा जवान जिसके लिए मर रहा है।
AC के कमरों मे रहता आमिर खान परिवार डर रहा है।।
पर इन फौजियों की बीवियां कभी नही डरती।
कहती है अब बेटे को कराऊंगी वहीं भर्ती।।
जहां लड़ते लड़ते इसके बाप ने प्राण कुर्बान किये।
डरपोक आमिर खान परिवार से भी पूछो इन्होंने क्या क्या बलिदान दिए ?
इस मुल्क ने 93 धमाके, 26/11 का दर्द सहा है।
क्या तब इनकी बीवियों ने कुछ ऐसा कहा है?
कि डर लगता है ऐसे माहौल मे जीने से,
पूछो उनसे जिनके लाल हट गए सीने से।
तुम और फिल्में कर लोग और पैसे कमा लोगे।
करके बदनाम देश को तुम क्या पा लोगे??
अगर इतना ही डर है कुछ दिन सीरिया रह आओ।
दर्द क्या होता है वहां जाके सह आओ।
अजीब लोग है यहा जो तुम्हें दिल मे बसाये फिरते हैं।
आपको उठा लेते हैं आप औकात से नीचे गिरते हैं।।

भड़क गये जो भारतीय-

भड़क गये जो भारतीय …तो कोई ना रोक पायेगा ।।
जहाँ गड़ेगा तिरंगा …वहाँ हिंदुस्तान कहलाएगा ।।
जब उठेगी भारतीय  तलवार…तो कोहराम मच जायेगा ।।
इतिहास की तुम चिंता ना करो…भूगोल ही बदल जायेगा ।।

15 August 1947 : भाषण |First Speech Of Jawahar Lal Nehru After Freedom – “Tryst with Destiny” 0

जो लोग जम्मू कश्मीर में ये चिल्लाते है…..

जो लोग जम्मू कश्मीर में ये चिल्लाते है
पकिस्तान जिंदाबाद पाकिस्तान जिंदाबाद
अगर उन्हें पाकिस्तान भेज दिया जाय तो वो चिल्लाने लगेगे
“पकिस्तान से जिन्दा भाग “”पाकिस्तान से जिन्दा भाग”

 मैं झुक नही सकता –

मैं झुक नही सकता,,
मैं शौर्य का अखण्ड भाग हूँ ।

जला दे जो दुश्मन कि रुह तक,,
मैं वही ” भारत की आग” हूँ ||…

मत छेड़ो भारतीयों  को ,
हम से लड़ना मुश्किल होगा

वरना लिखेंगे ऐसा इतिहास,
की पढना भी मुश्किल होगा…

 

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *