योग की शक्तिऔर 5 महत्वपूर्ण टॉपिक योग के बारें में – Yoga Power in hindi

योग भारत की प्राचीन संस्कृति का गोरवमयी हिस्सा है जिसकी वजह से भारत सदियों तक विश्व गुरु रहा है | योग एक ऐसी सुलभ एवं प्राकृतिक पद्धति है जिससे स्वस्थ मन एवं शरीर के साथ अनेक आध्यात्मिक लाभ प्राप्त किये जा सकते हैं | ग को प्रधानमंत्री श्री नरेंदर मोदी ने एक कदम आगे बढाकर विश्व पटल पर स्थापित कर दिया है।

Yoga – योग ! 5000 वर्ष पुराना ज्ञान एंव गूढ़ विज्ञान जिसे आज पूरी दुनिया ने माना है| यही वो विज्ञान या संस्कृति है जिसके कारण भारत को विश्वगुरु कहा जाता है|

यह योग में विश्व का दृढ विश्वास ही है की जिसकी वजह से 21 जून कोअन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस ( International Yoga Day ) मनाये जाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा रखे गये प्रस्ताव को 177 देशो ने अत्यंत सीमित समय में पारित कर दिया l

मनुष्य हमेशा खुश रहना चाहता है| हर कोई व्यक्ति कभी न कभी यह सोचता है कि काश उसके पास एक ऐसा जादू चमत्कार या शक्ति हो जिससे वह जान सके कि उसके जीवन का उद्देश्य क्या है और वह कैसे हर समय खुश रह सकता है|

योग ही वो “विज्ञान”, “शक्ति” या “चमत्कार” है, जो हमारे जीवन को बदल सकता है| आज हम योग पॉवर की बात करेंगे यानि की योग का पॉवर क्या हैं अभी तक लोगों को योग के पॉवर के बारें में बोहुत ही कम बातें पता हैं तो आज हम कुछ पॉइंट योग पर कहेंगे जिससे आप जान पाएंगे की योग की पॉवर क्या हैं?योग क्या क्या काम आएगा Etc..

Body, Mind and Soul / शरीर, मन और आत्मा

हमारे शरीर और मन के आलावा भी कुछ और है, जो शरीर और मन को नियंत्रित करता है जिसे हम “अंतरआत्मा” या “चेतना” कहते है|

हम केवल शरीर या मन नहीं हो सकते क्योंकि अगर ऐसा होता तो शायद हममें और कंप्यूटर-रोबोट में कोई फर्क नहीं होता| इस बात को हम धर्म से न जोड़े और खुद चिंतन करें तो हमें यह अनुभव होता है कि कुछ तो है जो हमारे शरीर और मन को नियंत्रित है जो एक शक्ति या चेतना या आत्मा  है|

यही वह शक्ति है जो हमें कुछ बुरा करने या किसी को दुःख पहुँचाने से रोकती है और यह हमेशा हर परिस्थिति में सही होती है| लेकिन जब हम अपनी अंतरआत्मा की आवाज को अनसुना कर देते है तो हमारे मन और शरीर का उस “अंतररात्मा” या “शक्ति” से संपर्क कमजोर पड़ने लगता है और हम दुखी रहने लगते है|

योग क्या है? / What is Yoga ?

योग संस्कृत शब्द “युज” से उत्पन हुआ है जिसका अर्थ “जोड़ना” है| योग (Yoga) हमारे शरीर, मन और आत्मा (Mind, Body and Soul) के बीच संयम स्थापित करता जिससे हमारी सुप्त शक्तियां जाग्रत होने लगती है|

योग के महान ग्रन्थ पतंजलि योग दर्शन में योग के बारे में कहा गया है|

“ योगश्च चित्तवृत्ति निरोध : “ |

यानि मन की वृत्तियों पर नियंत्रण करना ही योग है |

जैसे-जैसे हम योग करते जाते है वैसे वैसे हमारे मन, शरीर और आत्मा का संपर्क मजबूत होता जाता है और हमारा जीवन सरल व सकारात्मक होता जाता है|

योग: एक सम्पूर्ण जीवन पद्धति / Yoga: The Art of Living

योग केवल रोगों को दूर करने की प्रक्रिया नहीं है| योग का आशय शरीर के समस्त रोगों को दूर कर, मस्तिष्क को तनाव मुक्त कर, मन को पवित्र बनाकर, आत्मा का ईश्वर से सम्बन्ध स्थापित करना है|

शरीर का मन पर और मन का शरीर पर प्रभाव पड़ता है| इसलिए योग ही एकमात्र ऐसी सम्पूर्ण पद्धति है जो मनुष्य को शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से शक्तिशाली बनाती है|

जीवन की समस्याओं में हम उलझे रहते है जिसके कारण धीरे धीरे हमारा स्वंय पर नियन्त्रण नहीं रहता लेकिन योग एक ऐसा साधन जिससे हमारा मन और शरीर पर सम्पूर्ण नियंत्रण होने लगता है| और सबसे बड़ी बात यह है “योग” मनुष्य को आत्म संतुष्टि प्रदान करता है|

अगर जीवन को जीने का सर्वोतम तरीका (Art of Living) कोई है तो वह “योग” है|

योग के फायदे / Benefits of Yoga

योग (Yoga) का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसका कोई नुकसान नहीं होता| इसके सैकड़ों फायदें है जिसे वैज्ञानिकों और चिकित्सकों ने स्वीकार किया है| योग से हजारों लोगों के असाध्य रोगों को दूर किया जा चुका है | सबसे बड़ी बात यह है कि यह एक प्राकृतिक पद्धति है जो हमें प्रकृति के साथ जोडती है|

योग की शक्ति के बारे जितना लिखा जाए उतना कम है क्योंकि इसका अनुभव अद्भुत होता है जिसे शब्दों द्वारा नहीं बताया जा सकता|

योग के सबसे महत्वपूर्ण फायदें हमने अपने पिछलें आर्टिकल में लिखें है… आप निचे दियें गएँ लिंक से उस आर्टिकल में पूरी जानकारी पढ़ सकतें हैं योग के बारें में….

दोस्तों योग के बारें में जीतना लिखा जाएँ उतना कम हैं क्यों की योग एक ऐसा टॉपिक है जीससे आप अपनी पूरी life बदल सकतें हैं आप समज सकतें है life कितनी इम्पोर्टेन्ट हैं so आप मन लिजियें अगर आप हर रोज़ कमसे कम 10-15 मिनट भी योग करतें हैं तो आपकी life में ऐसा बदलाव आएगा जो आप सोच भी नहीं सकतें | योग को सुनने या पढ़ने से नहीं महसूश करने में ज्यादा मजा आता हैं तो दोस्तों आज से ही आप एक new Life स्टार्ट कीजिये और आगे बढिए….

अगर आपको यह लेख पसंद आया तो अपने दोस्तों से जरुर शेर करें और Helpहिन्दी से जुड़ें रहें सिखतें रहें सिखतें रहें और आगे बढतें रहें….

धन्यवाद!

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *