Hardware और Computer के बारे में सबसे UniQ जानकारी हिंदी मे

कंप्यूटर एक ऐसी Electronic Device है जो Input लेने के लिए और उसे Process करके Information देने के लिए और Condition को Follow करने का काम करती है ! ये Article Hardware और Micro Computer पर आधारित है ! इस Article में आपको कंप्यूटर के बारे में जानने के लिए अच्छी अच्छी बातें मिलेगी और ये आपके लिए जानना बहुत जरुरी है !

आज हम कंप्यूटर के बारे में बात करेंगे की कंप्यूटर कितने प्रकार के होते है ! और उनके बारे में विस्तार से जानेंगे तो चलिए सीखते है !

कंप्यूटर के चार प्रकार है (4 Type of Computer )

  1. Super Computer (सुपर कम्प्युटर)
  2. Mainfream Computer (मईन्फ़्रेयाम कम्प्युटर)
  3. Mini Computer (मिनी कम्प्युटर)
  4. Micro Computer (माइक्रो कम्प्युटर)

1. सुपर कंप्यूटर (Super Computer) – यह कंप्यूटर सभी कंप्यूटर में सबसे Powerful कंप्यूटर है ये कंप्यूटर High Capasity वाले कंप्यूटर में आते है! जिनका उपयोग हम बड़े Institute में भी होता है I.B.M  का ब्लू जेने विश्व के सबसे तेज कंप्यूटरो में से एक है !

क्या आपको पता है की सुपर कंप्यूटर क उपयोग की किन किन कार्यो में होता है !

  • जब कोई बड़े वैज्ञानिक कुछ रिसर्च करते है तो उन प्रयोग शालाओं में वो एन सुपर कंप्यूटर का प्रयोग करते है !
  • मोसम की भविष्य वाणी के लिए भी इनका उपयोग किया जाता है!
  • मैन्फ्रेम कंप्यूटर (Mainfream Computer)-.मैन्फ्रेम कंप्यूटर साइज़ में बहुत बड़े होते है साथ ही इनकी स्टोरेज कैपेसिटी भी अधिक होती है !इनमे अधिक मात्रा के डाटा पर तेजी से प्रोसेस या क्रिया करने की कैपेसिटी होती है इसीलिए इनका उपयोग बड़ी कंपनीयो, बैंक सरकारी विभाग एक केन्द्रीय कंप्यूटर के रूप में करते है! ये 24घंटे वर्क कर सकते है ! और इन Computers पर  100 से ज्यादा लोग एक साथ काम कर सकते है !
  • Mainfream Computer को एक नेटवर्क या Micro Computer से आपस में जोड़ा जा सकता है !
  • मेनफ़्रेम कंप्यूटर के Example – IBM 4381, ICL 39

2. मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)– ये Medium आकार के कंप्यूटर होते है ये Micro Computer की तूलना में अधिक कार्य छमता वाले कंप्यूटर होते है ! मिनी Computer की Rate Micro Computer से अधिक होती है ! और ये व्यक्तिगत रूप से नहीं खरीदे जा सकते है !  इन्हे छोटी या Medium स्तर की कंपनियां काम में लेती है ! इस कंप्यूटर पर एक से अधिक लोग काम कर सकते है!

मिनी कंप्यूटर में एक से अधिक CPU होते है ! इनकी Memory और गति Micro Computer से अधिक और Mini Computer से कम होती है ! ये Mainfream Computer से सस्ते होते है ! मध्यम स्तर की कंपनियों में Mini Computer से अच्छे चलते है या उपयोगी माने जाते है ! यह भी संभव है की हम अलग-अलग व्यक्तियों के लिए भी Mini Computer लगा सकते है लेकिन ये बहुत ही महंगा पड़ता है ! इसके अलावा अनेक Micro Computer होने पर इसकी साफ़-सफाई का कार्य और मरम्मत का कार्य बढ़ ज्यादा है ! शायद आपको पता नहीं लेकिन सबसे पहला Mini Computer PDP-8 एक Refrigerator के आकार का था और इसकी कीमत लगभग १८००० डोलर थी जिसे डी.ई.सी. (DEC – Digital Equipment Corporation ) ने सन १९६५ में तैयार किया था !

४.माइक्रो कंप्यूटर(Micro Computer) – तकनीक के छेत्र में १९७० में एक आविस्कार हुवा था !ये  आविष्कार माइक्रो प्रोसेसर का था !जिसकी मदद से सस्ती कंप्यूटर प्रणाली बनाना आसांन था या संभव था ! ये कंप्यूटर किसी डेसक पर या किसी ब्रीफकेस पर रखे जाते थे !ये छोटे कंप्यूटर माइक्रो कंप्यूटर कहलाते थे 1MICRO कंप्यूटर कीमत में बहुत सस्ते होते थे जिस तरह आजकल लैपटॉप होते है !इन माइक्रो कंप्यूटर को कही भी ले जाया जा सकता था इसको इस्तेमाल करना भी आसांन था इन्हे घर या किसी भी छेत्र में काम में लिया जा सकता था !अत: इन्हे पर्सनल कंप्यूटर या पी.सी.भी कह सकते है !

फ्रेंड्स ये जानकारी आपके लिए बहुत ही ज्यादा इम्पोर्टेन्ट है और ये आपको जाननी भी चाहिए !में आगे भी आपके साथ ऐसी बहुत सी टेक्निकल चीजें शेयर करूँगा मुझे आशा है की आपको पसंद आये !

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *