Group discussion tips and tricks in hindi

मित्रो , अगर आप NDA/CDS/मैनेजमेंट में दाखिला लेना चाहते हैं तो ग्रुप डिस्कशन का बड़ा ही रोल रहता है| आज हम आपको कुछ ट्रिक्स बताएँगे जिसके जरिये आप GD में अच्छे नंबर ला पाएंगे |

          Group discussion tips and tricks in hindi

Search –

group discussion in hindi,group discussion tips

Group Discussion होता क्या है –

group discussion-tips-and-tricks-in-hindi

GD यानि कि Group Discussion एक ऐसी विधा है ,जिसके जरिये कुछ students का ग्रुप किसी विशेष टॉपिक जैसे – आतंकवाद , पर्यावरण ,उर्जा संरक्षण आदि पर Discussion करना होता है , और इसका टाइम २० मिनट से 1 घंटे का होता है | G D से पहले students को कुछ मिनट दिए गए subject पर विचार विमर्श के लिए दिए जाते है |और इसके बाद start होती है Group Discussion –

तैयारी करने का सही समय –

written पेपर देने के just बाद से ही आप इसकी तैयारी शुरू कर दे |

Newspaper और पत्रिकाओ पर रखे पैनी नजर –

current अफेयर्स के लिए आप अपनी नजर newspaper और खास कर newspaper के सम्पादकीय पेज और सम-सामयिकविषयों का कलेक्शन बना लें इससे आपको एक फायदा जरुर मिलेगा जब आपको टॉपिक दिया जायेगा तब आपके पास उस विषय के बारे में एक विस्तृत जानकारी होगी और आपका आत्मविश्वास बढेगा | GD से पहले पानी जरुर पी के जाये , ताकि आपको बीच में कोई असुविधा न हो |

Group Discussion में कुछ ध्यान देने वाली बातें हैं जिसको अगर ध्यान में रखा जाए तो आप examinar पर अच्छी छाप छोड़ेंगे :-

  • विषय से अलग न हटे –

अक्सर देखा जाता है students ग्रुप में अपने को बेहतर दिखाने के चक्कर में विषय से अलग चले जाते हैं और main subject भूल जाते है इसलिए जो भी विषय रखे वह दिए गए विषय से ही related हो |

  • गलत आंकड़े न करे पेश –

Group Discussion में कभी भी गलत आंकड़े न पेश करे |

  • कम्युनिकेशन स्किल पर दे ध्यान –

आप अपनी बात प्रभावशाली ढंग से रखे | बोलते वक्त नजरे न चुराए , न किसी एक को देखे | सभी की ओर देखते हुए अपनी बात रखे |

  • बोलते वक्त अटकें नही –

अपनी दुरुस्त तैयारी के साथ जाए | अक्सर students इसे बहुत हल्के में ले लेते हैं और G D में बिना तैयारी के आ जाते हैं , जिसके कारण उन्हें टॉपिक के बारे में कुछ याद नही आता और blank हो जाते हैं | अटकने का एक रीजन नर्वसनेस भी है , इसको बार बार प्रैक्टिस से दूर किया जा सकता है | इसके लिए आप अपनी मित्र मण्डली में बैठ कर हर सप्ताह किसी विषय के बारे में चर्चा करे |

  • दूसरों की बात को भी ध्यान से सुने –

Group Discussion के समय दूसरे लोगों की बातो पर भी ध्यान दे, ऐसा न करने से कभी कभी ऐसा हो जाता है हम उस बात को रिपीट कर देते है जो पहले से ही कोई कह चुका होता है

  • बॉडी लैंग्वेज पर रखे ध्यान –

GD के दौरान कुछ students अपना पैर हिलाते हैं , नाख़ून चबाते हैं , चाभी या पेन को हिलाते हैं , जो कि अच्छा नही माना जाता |

41 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *