काकरोच और वेटर – Motivatioanal story in hindi

116 Views

दोस्तों आज मै आपको Proactive और Reactive लोगो के बीच अन्तर बताने के लिए एक कहानी बताने जा रहा हूँ उस कहानी का नाम है – काकरोच और वेटर – an Inspiring & Motivatioanal story in hindi

यह कहानी नही है , यह एक real story है जिसे सुंदर पिचई ने सामने से देखी ,और फिर google के Ceo Sunder Pichai ने इसे share की थी जो आज मै आपको बताने वाला हूँ |

एक रेस्टोरेंट में एक औरत के ऊपर कही से एक एक काकरोच आकर बैठ जाता है , वो डर जाती है और जोर जोर से चीखने चिल्लाने लगती है , और उछल – उछल कर उसे अपने हाथो से हटाने की कोशिश करने लगती है , इतने में औरत के हाथ लगने से काकरोच आकर दूसरी औरत पर बैठ जाता है , और वह औरत भी पहली वाली औरत की तरह चीखने लगती है , यह देखकर पास में खड़ा एक वेटर उनकी मदद के लिए उनके पास जाता है | इतने में काकरोच अब वेटर के ऊपर बैठ जाता है , लेकिन वेटर बिना चिल्लाये और बिना Panic हुए सीधा खड़ा रहता है और काकरोच के movement को अच्छे से observe करता है , फिर उसे अपने हाथों से पकड कर बाहर फेंक देता है |

यहाँ waiter एक Proactive इंसान था जिसने उन औरतों की तरह Situation पर बिना सोचे समझे React करने की वजह , सोचकर Solution निकाला और फिर सोच के according ,action लिया |

Reactive – यहाँ Reactive वो औरतों है |
proactive – और Proactive वेटर है |

Reactive लोग हर चीज मे दूसरों को Blame करते हैं | वो कुछ इस तरह से बाते करते है –

उनका देश तरक्की नहीं कर रहा क्योंकि Government अच्छी नहीं है |

वो तरक्की नहीं कर रहे क्योंकि उनका Boss अच्छा नहीं है |

वो खुश नहीं है , क्योंकि लोग अच्छे नहीं है |

और कोई बहाना न मिले तो वो किस्मत को ही Blame करने लगते हैं |

उन्हें लगता है , चीजो को Control करना उनके हाथ में नहीं है , सब हालत और किस्मत का खेल है | उन्हें लगता है सारी problems बाहर है , जबकि असलियत यह होती है कि Problems उनके अंदर हैं |

वो अधिकतर ऐसे Sentance use करते है , जैसे –

मै कुछ नहीं कर सकता |

क्या करूँ मै बचपन से ही ऐसा हूँ |

वो मुझे बहुत गुस्सा दिलाता है |

जबकि Proactive लोग दूसरों की बजाय अपने अपर ज्यादा भरोसा रखते हैं |वे अपने action की Responsibality खुद पर लेते हैं |

हालात और किस्मत को दोष देने के बजाय वो अपने Problems का Solution ढूंढते है |

About Vinay Singh 555 Articles
मेरा नाम Vinay Singh है, और मुझे लोंगों की Help करना अच्छा लगता है। Hindi Me Jane आपके Technical Problem के Solutions के लिए बनाया गया है जहां से आप कुछ नया सीख सकते हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*